logo of this websiteगीतांजली दीदी

हनुमान जी को नारियल चढ़ाने के फायदे


हिन्दू धर्म मे नारियल को बहुत ही पवित्र माना गया हैं और नारियल त्रिदेवो का प्रतीक हैं। हालांकि सभी प्रकार की पुजा-पाठ के साथ साथ हर मंगल कार्य के शुरू मे नारियल का इस्तेमाल जरूर होता हैं, लेकिन बहुत ही कम लोगो को पता हैं की अगर नारियल को बड़ी ही श्रद्धा के साथ हनुमान जी को अर्पित किया जाए तो यह बहुत ही लाभकार होता हैं। हनुमान जी भगवान शिव के 11वें रुद्र अवतार हैं। इधर नारियल भगवान शिव का प्रतीक भी हैं। इसलिए अगर कोई प्रेम भाव के साथ हनुमान जो को नारियल चढ़ाये तो निम्न लाभ हो सकता हैं।

  1. हनुमान जी संकट मोचन हैं, अगर कोई व्यक्ति प्रत्येक मंगलवार और शनिवार के दिन हनुमान जी को नारियल अर्पित करता हैं तो उस व्यक्ति के आने वाले सभी कष्ट हनुमान जी दूर कर देते हैं।
  2. अगर कोई व्यक्ति आर्थिक समस्याओ से परेशान हैं तो उस व्यक्ति को हनुमान मंदिर मे जाकर, लाल वस्त्र मे नारियल को लपेट कर सुंदरकाण्ड के बाद नारियल को हनुमान जी के सामने अर्पित करने से आर्थिक समस्या दूर होती हैं।
  3. अगर कोई व्यक्ति दफ्तर मे अपने प्रतिद्वंदी से परेशान हैं, तो उस प्रतिद्वंदी को सद्बुद्धि देने के लिए शनिवार के दिन हनुमान जी को नारियल और चमेली का तेल अर्पित करे। आपके समस्त दुश्मन और प्रतिद्वंदी आपसे हर मान जाएंगे और आपके सामने नतमस्तक हो जाएंगे।
  4. मंगलवार के दिन हनुमान जी को सेन्दूर अर्पित करने के बाद नारियल चढ़ाये और इसके बाद सुंदरकाण्ड का पाठकरे, ऐसा करने से हनुमान जी सभी मनोकामना पूर्ण करते हैं।

हनुमान जी को शंकर सुवन क्यों कहते हैं

हनुमान जी को शंकर सुवन कहा जाता हैं, बहुत से लोग सुवन का अर्थ पुत्र लगते हैं लेकिन यह गलत हैं, शंकर सुवन का अर्थ यहाँ पर भगवान शिव के अवतार से हैं। हनुमान जी भगवान शिव के रुद्र अवतार हैं। इसलिए हनुमान जी को शंकर शुवन कहा जाता हैं यानि की वह शक्ति जो शंकर की तरह ही हैं।

हनुमान जी को नारियल कब चढ़ाना चाहिए?

हनुमान जी को नारियल मंगलवार और शनिवार को चढ़ाना चाहिए। मंगलवार और शनिवार को नारियल चढ़ाने से जीवन में सफलता और सकारात्मक परिणाम मिलते हैं।

Keyword :हनुमान जी को नारियल चढ़ाने के फायदे, हनुमान जी को शंकर सुवन क्यों कहते हैं,


डिसक्लेमर- इस पोस्ट में दी गई किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की विश्वसनीयता की गारंटी हमारी वैबसाइट नहीं लेती है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से खोजकर कर इन जानकारियों को आप तक लाने का प्रयास हुआ हैं। हमारी वैबसाइट का उद्देश्य सिर्फ सूचना एवं जानकारियों को पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इस जानकारी को सिर्फ महज सूचना समझकर ही लें। इसके अलावा इस जानकारी के किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं यूजर्स की ही रहेगी। हमारी वैबसाइट का इससे कोई संबंध नहीं हैं।
Related Post
☛ शिवलिंग पर काली मिर्च चढ़ाने के फायदे
☛ जूता किस दिन नहीं खरीदना चाहिए
☛ मंगलवार को क्या नहीं खरीदना चाहिए
☛ मकड़ी का जाला किस दिन साफ करना चाहिए
☛ काली माता की तस्वीर घर में रखना चाहिए या नहीं
☛ सात घोड़े की तस्वीर किस दिन लगाना चाहिए
☛ नमक किस दिन नहीं खरीदना चाहिए
☛ हनुमान जी की मूर्ति घर में रखनी चाहिए या नहीं
☛ झाड़ू कब खरीदना चाहिए
☛ खरमास में क्या नहीं खरीदना चाहिए

MENU
1. मुख्य पृष्ठ (Home Page)
2. व्रत एवं कथा
3. माँ और बच्चे
4. ज्योतिष शास्त्र
5. सपने का अर्थ
6. भारत का सामान्य ज्ञान
7. खेल-कूद


Secondary Menu
1. About Us
2. Privacy Policy
3. Contact Us
4. Sitemap


All copyright rights are reserved by Gitanjali Didi.